Cart

Your Cart is Empty

Back To Shop

sphatik normal 6-7mm with lab certified certificate

299.00

40.00 Cashback

5 in stock

Compare
  Ask a Question

this is a normal rosary of sphatik..
it has 108+1 total beads..
beads size are approximately 6 to 7 mm
a lab certified certificate will be given with this..
यह स्‍फटिक की नार्मल माला है जिसमेे कुल एक सो आठ और एक दाना
इस माला के दानों की मोटाई छ से सात एम एम के बीच में है लगभग
इस माला के साथ लेब से प्रमाणित एक सटिफिकेट दिया जाता है
क्या होता है स्फटिक?
स्फटिक को अंग्रेज़ी में रॉक क्रिस्टल, संस्कृत में सितोपल, शिवप्रिय, कांचमणि और फिटक आदि कहते हैं। कहते हैं कि यह सिलिकॉन और ऑक्सीज़न के एटम्स के मिलने से बनता है। यह बर्फ के समान पारदर्शी और सफेद होता है। दरअसल, स्फटिक एक रंगहीन, पारदर्शी, निर्मल पत्थर होता है जो कि सफेद रंग का चमकदार दिखाई देता है।
What is crystal?
Sphatik is called rock crystal in English, Sitopal in Sanskrit, Shivpriya, Kanchmani and Fitak etc. It is said that it is formed by the mixing of atoms of silicon and oxygen. It is transparent and white like snow. Actually, rhinestone is a colorless, transparent, clear stone that appears shiny white in color.

स्फटिक धारण करने के फायदे

1. स्फटिक की माला पहनने से किसी भी प्रकार का भय और घबराहट नहीं रहती है। मन में सुख, शांति और धैर्य बना रहता है।
2. ज्योतिष के अनुसार स्फटिक धारण करने से धन, संपत्ति, रूप, बल, वीर्य और यश प्राप्त होता है।
3. इसकी माला से किसी मंत्र का जप करने से वह मंत्र शीघ्र ही सिद्ध हो जाता है।
benefits of wearing crystals

1. By wearing a garland of crystals, there is no fear and panic of any kind. Happiness, peace and patience remain in the mind.
2. According to astrology, wearing a crystal gives wealth, property, form, strength, semen and fame.
3. By chanting any mantra with its garland, that mantra is proved soon.
4. इसकी भस्म से ज्वर, पित्त-विकार, निर्बलता तथा रक्त विकार जैसी व्याधियां दूर होती है।
5. स्फटिक की माला को भगवती लक्ष्मी का रूप माना जाता है। स्फटिक की माला धारण करने से शुक्र ग्रह दोष दूर होता है।
6. सोमवार को स्फटिक माला धारण करने से मन में पूर्णत: शांति की अनुभूति होती है एवं सिरदर्द नहीं होता।
4. Its ashes cures diseases like fever, bile disorders, weakness and blood disorders.
5. Sphatik garland is considered to be the form of Goddess Lakshmi. Wearing a garland of crystals removes the defect of Venus.
6. Wearing Sphatik Mala on Monday gives a feeling of complete peace in the mind and does not cause headache.

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “sphatik normal 6-7mm with lab certified certificate”

Your email address will not be published.

No more offers for this product!

General Inquiries

There are no inquiries yet.

Select Your Location:

Cart

Your Cart is Empty

Back To Shop